Narendra Modi

2025 से 2032 – भारत के लिए मंगल मारक योग बना रहा है

Spread the love

सितम्बर 2025 से भारत मंगल की महादशा में आ जाएगा ! सामान्य व्यक्ति भी मंगल के कारकों को जानता है ! मंगल मतलब ऊर्जा ! जगत की सभी ऊर्जाओं का कारक मंगल है ! मंगल भूमिपुत्र है अर्थात भूमि का कारक है मंगल ! भूमि खरीदने भूमि बेचने कास भी कारक मंगल होगा ! व्यक्ति या राष्ट्र कितने फिट हैं यह मंगल तय करता है ! मंगल पावर भी है बिजली भी ! मंगल क्रोध है रक्त है कैंसर जैसी खतरनाक बिमारी मंगल के अधीन है ! लेकिन ये सब तो हुए मंगल के पॉजिटिव बदलाव पर यही मंगल जब नेगेटिव रूप में होगा तो यह बहुत दुखदायी और निराशाजनक हो जाता है ! यदि २०२५ में नरेंद्र मोदी जी पुनः प्रधानमंत्री रहे तो यह बुरा संयोजन होगा क्योंकि वे स्वयं मंगल की महादशा में हैं ! उनका मंगल नीच का होकर उन्हें बलहीन बना रहा है ! हाल के दिनों में यदि उनके फैसले एवं विचार देखें तो वह थोड़ा सा प्रो मुस्लिम हो रहे हैं ! और उनकी यह प्रवृत्ति दिन बा दिन आगे ही बढ़ रही है ! ऐसे में वह मंगल भारत के मंगल के साथ संयोजन करके अत्यंत दुखद और अशुभ परिणाम देगा ! भारत की स्वतंत्रता की कुंडली (जोकि लेख में है ) में मंगल सप्तमेश मारक होकर द्वितीय भाव के मारक स्थान में बैठा है ! यही मंगल भारत की कुंडली के बारहवें भाव में बैठा है ! नवांश कुंडली में पुनः मारक होकर मंगल दशम स्थान में बैठा है ! लग्न कुंडली में अष्टमेश बृहस्पति भी मारक दूसरे भाव में बैठा है ! मंगल ज्ञातिकारक है और षड्बल में सबसे अधिक विन्दु प्राप्त किये हुए है !
भविष्यवाणियां :-
*राहु के नक्षत्र में बैठा मंगल के कारण देश पुनः धोखा खा सकता है ! यह धोखा किसी भी तरह का होगा परन्तु एक विशेष समुदाय के लोगों द्वारा यह धोखा देश को मिलेगा ! इससे अत्यधिक सावधान रहने की आवश्यकता इसलिए है क्योंकि भारत के रहनुमा लोगों का भी मंगल कमज़ोर है नीच का है !
*द्वितीय मारक भाव में होने के कारण यह विशाल जनहानि का संकेत दे रहा है ! साथ ही साथ विदेशी व्यापार से कुछ धन लाभ भी दर्शाता है ! विदेशों में /से किये जाने वाले निवेश में विशेष सावधानी बरतनी होगी ! सावधानी बरतने की स्थिति में निवेश की अच्छी संभावना है !
*कुछ नियमों आदि के शिथिल होने के कारण और कुछ अन्य विशेष कारणों के कारण देश से जबरदस्त पलायन होगा दूसरे देशों के लिए !
*यह मंगल खून खराबे दिखा रहा है जो अभी तक के सबसे प्रभावी उपद्रव साबित होंगे !
*इसी मंगल में मंगल प्रधान भगवाधारी देश की गद्दी संभालेगा !
*देश में मृत्यदर ज़्यादा दिख रही है ! अर्थात चाहे मानवीय कारणों से उपद्रव हिंसा या बिमारी या युद्ध किसी भी कारण से धन हानि दिखती है !
(पुरानी पोस्ट्स के लिए एस्ट्रोलॉजिकल प्रिडिक्शन्स ब्लॉग पर जाएँ )

 


Spread the love